उपराज्यपाल ने पुलवामा, शोपियां में सिनेमा हॉल का उद्घाटन किया, कहा- हर जिले में जल्द होगा थिएटर


घाटी में 1980 के दशक के अंत तक लगभग एक दर्जन एकल सिनेमा हॉल थे, लेकिन दो उग्रवादी संगठनों द्वारा सिनेमा हॉल मालिकों को धमकी दिए जाने के बाद उन्हें बंद करना पड़ा था.

जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा नेपुलवामा और शोपियां में बहुउद्देशीय सिनेमा हॉल का उद्घाटन किया. (फोटो साभार: ट्विटर/@manojsinha_)

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने रविवार को दक्षिण कश्मीर के दो जिलों पुलवामा और शोपियां में एक-एक बहुउद्देशीय सिनेमा हॉल का उद्घाटन किया.

सिन्हा ने पुलवामा में संवाददाताओं से कहा, ‘हम जल्द ही जम्मू कश्मीर के हर जिले में ऐसे बहुउद्देशीय सिनेमा हॉल बनाएंगे. मैं ऐसे सिनेमा हॉल पुलवामा और शोपियां के युवाओं को समर्पित करता हूं.’

सिन्हा ने एक ट्वीट में इस अवसर को ‘ऐतिहासिक’ करार दिया.

उन्होंने कहा, ‘जम्मू कश्मीर केंद्रशासित प्रदेश के लिए एक ऐतिहासिक दिन. पुलवामा और शोपियां में बहुउद्देशीय सिनेमा हॉल का उद्घाटन किया. यह फिल्म स्क्रीनिंग, इन्फोटेनमेंट की सुविधा से लेकर युवाओं के कौशल को उभारने में मदद प्रदान करेगा.’

श्रीनगर के सोमवर इलाके में कश्मीर का पहला आईनॉक्स मल्टीप्लेक्स अगले हफ्ते जनता के लिए खोला जाएगा. इसमें 520 सीट की कुल क्षमता वाले तीन सिनेमाघर होंगे.

यह पूछे जाने पर कि क्या सरकार कोई संदेश देना चाहती है, सिन्हा ने कहा, ‘कोई संदेश नहीं है. यह ‘मिशन यूथ’ (सचिव) शाहिद इकबाल चौधरी के नेतृत्व में की गई एक पहल है.’

एनडीटीवी के मुताबिक, एक सरकारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि अनंतनाग, श्रीनगर, बांदीपोरा, गांदरबल, डोडा, राजौरी, पुंछ, किश्तवाड़ और रियासी में जल्द ही सिनेमा हॉल का उद्घाटन किया जाएगा.

सरकार ने कहा कि नए सिनेमा हॉल स्थानीय लोगों के लिए रोजगार पैदा करेंगे और युवाओं और सेमिनारों के प्रशिक्षण के लिए एक जीवंत स्थान भी प्रदान करेंगे.

युवाओं को सशक्त बनाने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता दोहराते हुए उपराज्यपाल ने कहा, ‘सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि जम्मू कश्मीर के प्रतिभाशाली युवाओं को शिक्षा और कौशल विकास के लिए सही मंच और आधुनिक सुविधाएं मिले.’

ज्ञात हो कि घाटी में 1980 के दशक के अंत तक लगभग एक दर्जन एकल सिनेमा हॉल थे, लेकिन दो उग्रवादी संगठनों द्वारा सिनेमा हॉल मालिकों को धमकी दिए जाने के बाद उन्हें कारोबार बंद करना पड़ा.

हालांकि, अधिकारियों ने 1990 के दशक के अंत में कुछ थिएटर को फिर से खोलने का प्रयास किया, लेकिन सितंबर 1999 में लाल चौक क्षेत्र के मध्य में स्थित रीगल सिनेमा पर एक घातक ग्रेनेड हमला कर आतंकवादियों ने इस तरह के प्रयासों को विफल कर दिया.

दो अन्य थिएटर- नीलम और ब्रॉडवे ने संचालन शुरू किया था, लेकिन खराब प्रतिक्रिया के कारण उन्हें बंद करना पड़ा.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Categories: भारत, विशेष, समाज

Tagged as: Cinema Halls, Employment, J&K, Jammu and Kashmir, Kashmir, manoj sinha, multipurpose cinema hall, News, Pulwama, Shopian, Terrorists, The Wire Hindi, Youth



Add a Comment

Your email address will not be published.