दक्षिणपंथी संगठनों के विरोध के बाद अंतरधार्मिक जोड़े की शादी का रिसेप्शन रद्द



समाचार चैनल सुदर्शन न्यूज के संपादक सुरेश चव्हाणके ने शुक्रवार सुबह रिसेप्शन के आमंत्रण की एक तस्वीर ट्वीट की और हैशटैग ‘लव जिहाद’ और ‘आतंकवादी कृत्य’ का इस्तेमाल करते हुए इसे दिल्ली के महरौली में हुए श्रद्धा वालकर हत्याकांड से जोड़ दिया था, जिसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, इस प्रक्रिया में चव्हाणके ने गलत सूचना भी फैला दी कि युवक-युवती शादी कर रहे हैं, जबकि निमंत्रण पत्र में स्पष्ट रूप से लिखा था कि यह एक रिसेप्शन था, न कि शादी.

शुक्रवार रात तक 12,000 से अधिक लोगों ने चव्हाणके के ट्वीट को रीट्वीट और लाइक किया. रविवार शाम तक इस पोस्ट पर 10.7 हजार लाइक, 5,035 रीट्वीट और 667 कोट ट्वीट के साथ हजारों कमेंट थे.

रिसेप्शन शुक्रवार शाम 6:30 बजे वसई पश्चिम के विश्वकर्मा हॉल में होना था, लेकिन जैसे ही चव्हाणके का ट्वीट वायरल हुआ दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं ने पूरे देश से हॉल के मालिक को फोन करना शुरू कर दिया और अंत में रिसेप्शन रद्द कर दिया गया.

27 वर्षीय श्रद्धा वाकर की उनके लिव-इन पार्टनर आफताब अमीन पूनावाला ने इस साल मई में कथित तौर पर उनकी बेरहमी से हत्या कर दी थी.

एक स्थानीय पुलिस अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि संपादक के ट्वीट के वायरल होने के बाद वसई में स्थानीय हिंदू और मुस्लिम संगठनों ने हॉल के मालिक को फोन किया और क्षेत्र में शांति के लिए इस कार्यक्रम को रद्द करने को कहा.

उन्होंने कहा कि दंपति के परिवार के लोग शनिवार को मानिकपुर पुलिस थाने आए और बताया कि रिसेप्शन के आयोजन को फिलहाल टाल दिया गया है.

अधिकारी ने कहा कि महिला (29 वर्ष), जो हिंदू है, जबकि उसका पति, एक मुस्लिम है. दोनों पिछले 11 सालों से एक-दूसरे को जानते हैं.

दोनों परिवारों के सदस्यों ने उनके रिश्ते का समर्थन किया है और इस जोड़े ने 17 नवंबर को एक अदालत में एक अंतरधार्मिक पंजीकृत विवाह किया.

मालूम हो कि आफताब पूनावाला ने अपनी ‘लिव-इन पार्टनर’ श्रद्धा वालकर 18 मई 2022 की शाम को कथित तौर पर गला घोंट कर हत्या कर दी थी. आफताब पर श्रद्धा के शव को 35 भागों में काटने का आरोप लगाया गया है.

आरोपी ने शव के टुकड़ों को दक्षिण दिल्ली के महरौली में अपने आवास पर लगभग तीन सप्ताह तक एक बड़े फ्रिज में रखा तथा उन्हें कई दिनों तक शहर के विभिन्न हिस्सों में फेंकता रहा.

श्रद्धा के पिता विकास वाकर द्वारा दर्ज कराई गई गुमशुदगी की शिकायत की जांच शुरू करने के बाद दिल्ली पुलिस ने 12 नवंबर 2022 को आफताब पूनावाला को गिरफ्तार किया था.

आफताब और श्रद्धा दोनों पालघर जिले के वसई के रहने वाले थे और इस साल अपने परिवारों द्वारा उनके रिश्ते का समर्थन नहीं करने के बाद दिल्ली आ गए थे. वे एक-दूसरे से एक डेटिंग ऐप के जरिये मिले थे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Categories: भारत, समाज

Tagged as: Aaftab Poonawala, Act of Terrorism, Aftab Poonawala, Love JIhad, Maharashtra, Right-wing activists, Shraddha Walkar, Shraddha Walkar Murder, Shraddha Walkar Murder Case, Sudarshan News, Suresh Chavhanke, Vasai, Wedding Reception



Add a Comment

Your email address will not be published.