भारत में साल 2023 में वैध नहीं होंगे ये दो ग्रहण, जानिए सूर्य और चंद्र ग्रहण की तारीखें


साल 2022 को खत्म होने और नए साल 2023 के शुरू होने में कुछ एक महीना बाकी है. ऐसे में लोग अभी यह जानना चाह रहे हैं कि आने वाले साल में क्या नया होने वाला है। कौन सा उत्सव कब है? हर कोई इस बात में दिलचस्पी रखता है कि नए साल में कितने ग्रहण आएंगे और भारत में कितने स्पष्ट दिखेंगे। ऐसे में आज हम खगोलीय अनुमानों के आधार पर जानेंगे कि साल 2023 में कितने ग्रहण आएंगे और कब आएंगे. भारत में इन अस्पष्टताओं की संख्या ध्यान देने योग्य होगी। बता दें कि आने वाले साल में 4 ग्रहण आने वाले हैं। 2 चंद्र ग्रहण और 2 सूर्य ग्रहण। देखते हैं ग्रहण की घड़ी और सूतक काल।

पहला ग्रहण

साल 2023 में पहला ग्रहण अप्रैल में लगेगा। पहला सूर्य ग्रहण गुरुवार, 20 अप्रैल 2023 को घटित होगा। हिंदू कैलेंडर के अनुसार 20 अप्रैल सुबह 7 बजकर 4 मिनट से शुरू होकर दोपहर 12 बजकर 29 मिनट तक रहेगा। ज्योतिष अनुसार भारत में सूर्य ग्रहण दिखाई नहीं देगा। ऐसे में इसका सूतक काल नहीं रहेगा।

दूसरा ग्रहण

साल 2023 में दूसरा ग्रहण 20 अप्रैल के ठीक 15 दिन बाद शुक्रवार 5 मई 2023 को होगा। यह इस साल का पहला चंद्र ग्रहण होगा। ग्रहण रात 8 बजकर 45 मिनट पर शुरू होगा और 1 बजे खत्म होगा। बता दें कि चंद्र के अस्त होने का सूतक 9 घंटे पहले शुरू हो जाता है।

तीसरा ग्रहण

वर्ष 2023 में तीसरा सूर्य संचालित अन्धकार शनिवार, 14 अक्टूबर 2023 को होगा। यह वर्ष का दूसरा सूर्य ग्रहण होगा। मुख्य सूर्य ग्रहण की तरह यह अंधकार भी भारत में मान्य नहीं होगा। यह पश्चिम अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, एटलांटिका और आर्कटिका में पाया जाएगा।

चौथा ग्रहण

वर्ष 2023 का अंतिम ग्रहण रविवार, 29 अक्टूबर को होगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चंद्र ग्रहण पूर्णिमा के दिन होता है। चंद्र ग्रहण दोपहर 1.06 बजे शुरू होगा और दोपहर 2.22 बजे समाप्त होगा। यह ग्रहण भारत में दिखाई देगा, इसलिए इसका सूतक काल भी काफी अधिक होगा, जो 9 घंटे पहले शुरू होगा।

यह भी पढ़े: स्टाइलिश दिखने के लिए पहनें पफ स्लीव्स टॉप व ब्लॉउज, नज़र आएंगी बेहद ट्रेंडी

Add a Comment

Your email address will not be published.