यूरिक एसिड को कम करने में रामबाण है अजवाइन, ऐसे करें इस्तेमाल




यूरिक एसिड के बढ़ते स्तर को कम करने में अजवाइन भी बहुत कारगर है। हाई यूरिक एसिड की समस्या होने पर रोजाना सुबह खाली पेट अजवाइन का पानी बनाकर पीना चाहिए। अजवाइन में पाए जाने वाला ओमेगा 3 फैटी एसिड बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल कर सकता है। यूरिक एसिड अधिक हो जाने पर वह हाइपरयूरिसीमिया का रूप ले लेता है। इससे गाउट नामक बीमारी हो सकती है जिसके कारण जोड़ों में तेज दर्द होता है। अजवाइन का इस्तेमाल आपको इस समस्या से छुटकारा दिला सकता है। अजवाइन खाने से और भी कई स्वास्थ्य समस्याएं दूर होती हैं।

यूरिक एसिड के लिए अजवाइन: अजवाइन के साथ अदरक मिलाकर खाने से यूरिक एसिड कंट्रोल होता है। अजवाइन और अदरक आपके अंदर के पसीने को बाहर निकालता है जो यूरिक एसिड कंट्रोल करने में मदद करता है। इसके अलावा अदरक में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण दर्द और सूजन से राहत दिलाता है। एक चम्मच अजवाइन के साथ अदरक के कुछ टुकड़ों को पानी में उबाल लें और फिर उसे पिएं। इससे आपका यूरिक एसिड कंट्रोल होगा।

अर्थराइटिस के दर्द के लिए: अजवाइन में एंटीबायोटिक गुण होता है जो दर्द और सूजन को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा एनेस्थेटिक इफेक्ट भी होता है जो अर्थराइटिस के मरीजों को दर्द से राहत दिलाता है। अजवाइन के पेस्ट को जोड़ों पर लगाने से दर्द से राहत मिलती है।

वजन कम करता है: अजवाइन वजन कम करने के लिए कारगर होता है। अजवाइन में मौजूद तत्व शरीर के फैट को आसानी से बर्न करता है, साथ ही बेली फैट को भी कम करने में मदद करता है। रोजाना सुबह खाली पेट अजवाइन वाले पानी को पीने से शरीर का फैट बर्न होता है जिससे वजन कम करने में आसानी होती है।

पाचन के लिए: अजवाइन एसिडिटी और अपच से तुरंत राहत दिलाता है। अजवाइन में मौजूद एंजाइम, गैस्ट्रिक जूस को रिलीज करता है, इस प्रकार पाचन कार्यों में सुधार आता है। अजवाइन यदि कम मात्रा में नमक और गर्म पानी के साथ लिया जाए तो अपच की समस्या से भी राहत मिलती है।

यह भी पढ़े-

डायबिटीज के मरीजों के लिए अंजीर है फायदेमंद, इसके और भी हैं कई लाभ




Previous articleज्यादा कॉफी पीने से होती है एसिडिटी, सीने में जलन से हैं परेशान तो रखें इन बातों का ख्याल

Add a Comment

Your email address will not be published.