ये पांच संकेत बताते हैं आपके पेट में है बड़ी गड़बड़, पाचन नहीं कर रहा काम! देर होने से पहले दें ध्यान


अक्सर हमारे शरीर में होने वाली बीमारियों का कनेक्शन कहीं ना कहीं पेट से होता है. अगर हमारा पेट अच्छा होता है तो शरीर के बाकी अंग भी अच्छी तरह काम करते हैं. इसलिए पेट में होने वाली छोटी सी परेशानी को भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए. इस खबर में बताए गए लक्षणों की मदद से आप भी अपनी गट हेल्थ का अंदाजा लगा सकते हैं और अगर आपको कोई दिक्कत होती है तो उसे बताए गए टिप्स की मदद से ठीक भी कर सकते हैं.

हम सभी ने फिल्मों में ये कहावत जरूर सुनी होगी कि आदमियों के दिल का रास्ता पेट से होकर जाता है लेकिन असल में हम सभी की सेहत का रास्ता ही पेट से होकर जाता है. अगर हम अपने पेट को हेल्दी फूड देते हैं तो वो हमारे पूरे शरीर को हेल्दी रखता है. लेकिन आज की भागदौड़ वाली जिंदगी में हम सभी हेल्दी डाइट की जगह बाहर का तला-भुना फास्टफूड खाने के आदी होते जा रहे हैं जिसका खामियाजा हमारे पेट को उठाना पड़ता है. ऐसे में अगर आप भी अब तक अपने पेट की हेल्थ पर ध्यान नहीं दे रहे थे तो अलर्ट हो जाइए. इस खबर के जरिए हम आपको कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में बताएंगे जिनके जरिए आप अपनी गट हेल्थ का अंदाजा लगा सकते हैं और कुछ गड़बड़ होने पर उसे आज से सुधार भी सकते हैं.

आयुर्वेद में अग्नि शब्द का मतलब है मेटाबॉलिक फायर यानि खाने को डाइजेस्ट कर उसके पोषक तत्वों को अवशोषित कर शरीर के बाकी अंगों तक पहुँचाना. अग्नि भोजन को ऊर्जा में बदलती है जो शरीर के बाकी अंगों के काम करने के लिए जरूरी है. एक असंतुलित अग्नि का मतलब आमतौर पर पेट का खराब स्वास्थ्य है जिससे आप कई समस्याओं का सामना कर सकते हैं. इसकी वजह से भूख में कमी, थकान, भारीपन और सुस्ती होती है. इसके अलावा आयुर्वेद में गैस, कब्ज, स्किन का ड्राई होना, अनिद्रा, मसूड़ों का कमजोर होना मांसपेशियों की ऐंठन गट हेल्थ के खराब होने के संकेत हैं.

जीभ पर सफेद परत

क्या आपकी जीभ पर भी लंबे समय से सफेद परत जमी हुई है, अगर आपका जवाब हां तो इसका मतलब है कि आपका पेट आपसे शिकायत कर रहा है. सफेद जीभ एक चेतावनी संकेत है कि आपके पाचन तंत्र पर दबाव है. जब आपकी जीभ पर भारी परत चढ़ी होती है तो ये सफेद दिखाई देने लगती है. अगर आपके पाचन तंत्र पर दबाव होता है तो इसका मतलब है कि आपका पाचन तंत्र ठीक से काम नहीं कर रहा है. नतीजतन पेट को यीस्ट और बैक्टीरियल संक्रमण से घिरने का खतरा होता है.

भूख में कमी
हर बार मील और उसकी सही मात्रा अग्नि को मजबूत होती है. एक बार खाने के बाद उसे पचने का समय दें. मील के बीच अंतराल बेहद जरूरी है. इसके साथ ही अपनी डाइट को बैलेंस करना भी जरूरी है. ना ही कम और ना ही ज्यादा बल्कि हम सभी को जरूरत मात्रा में खाना चाहिए.

पेट की समस्या
अगर आप एसिडिटी, गैस, सूजन, दर्द, ऐंठन, बार-बार डकार आना और पेट फूलना जैसी समस्याओं का अनुभव करते हैं तो ये भी खराब गट हेल्थ का संकेत है.

बार-बार कब्ज या दस्त होना

कब्ज या दस्त पेट के खराब स्वास्थ्य के लक्षण बताते हैं. बेहतर होगा कि आप अपने आहार में फाइबर से भरपूर चीजों को शामिल करें. अगर आपको कब्ज है तो खूब सब्जियां, फल, साबुत अनाज और चोकर को शामिल करें. लेकिन दस्त के दौरान केला, चावल और सेब का सेवन करना सबसे अच्छा है. चूंकि ये खाद्य पदार्थ हल्के होते हैं इसलिए ये पेट खराब नहीं करते हैं. इसके अलावा ये पेट में फूड बाइंडिंग का काम भी करते हैं. अगर आपको भी इनमें कोई भी लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो उसे इग्नोर ना करें और तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

पेट का कैसे रखें ख्याल
आयुर्वेद एक्पर्ट्स का कहना है कि संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए पेट का स्वस्थ होना जरूरी है और ये तभी हेल्दी होगा जब आपका खाना हेल्दी होगा. अगर आप यहां दिए गए टिप्स को फॉलो करेंगे तो आप भी अपने पेट का ख्याल रख सकते हैं और उसे बीमार होने से बचा सकते हैं.

जब आप वास्तव में भूखे हों, तब ही खाना खाएं. भूख लगने का मतलब है कि आपने आखिरी बार जो भोजन किया था, वो पूरी तरह पच गया है. कभी-कभी हम गलती से मान सकते हैं कि हम भूखे हैं जबकि वास्तव में हमें केवल ऐसा महसूस हो रहा होता है. कई बार हमारा गला सूख रहा होता है और हमें लगता है कि हमारा पेट खाली है. इस स्थिति में अगर आप पानी पी लेते हैं तो आपके अंदर भूख का एहसास तुरंत खत्म हो जाता है.

हम सभी को शांत और सुकून से खाना खाना चाहिए. भोजन से हमारी जिंदगी चल रही है इसलिए इसे शरीर को देने से पहले कोशिश करें कि आप पूरे इत्मिनान में हों. चलते-फिरते, टेलीविजन, किताब, फोन या लैपटॉप पर समय बिताते हुए खाने से बचें. आपको खाते वक्त सिर्फ खाने पर ध्यान देना चाहिए.

हम सभी को शरीर की जरूरत के हिसाब से ही अपनी खुराक लेनी चाहिए. किसी और को देखकर कम या ज्यादा खाना ना खाएं. जब आपको पेट भरने का एहसास हो उसके बाद ना खाएं.

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी है कि आप हेल्दी फूड और उसका सही मात्रा में सेवन करें. लेकिन इसके साथ ये भी जरूरी है कि आप ताजा बना हुआ खाना खाएं ना कि फ्रिज में निकला हुआ. ताजा खाना खाने से आपकी गट हेल्थ बहुत अच्छी रहती है.

अपने भोजन के समय को पाबंद करें. हेल्दी खाने के साथ ही उसे समय पर खाना बेहद जरूरी है.

फायदों से भरपूर है ग्रीन टी, लेकिन इस वक्त पिएंगे तो उठाना पड़ जाएगा तगड़ा नुकसान

Add a Comment

Your email address will not be published.