RRB NTPC 2019 : सामान्य ज्ञान एवं करेंट अफेयर्स Current GK For NTPC सीरीज-12

RRB NTPC 2019 : सामान्य ज्ञान एवं करेंट अफेयर्स Current GK For NTPC सीरीज-12

हिंदी सामान्य ज्ञान (GK in Hindi) तथा हिंदी करेंट अफेयर्स को समर्पित वेबसाइट है. यह वेबसाइट प्रतियोगिता परीक्षाओं जैसे SSC, IBPS, Banking, Rajasthan RPSC, RRB, UPSC इत्यादि प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण है

 

Question : 1 हल्दी घाटी के युद्ध में मुगल सेना का नेतृत्व किसने किया
Answer – राजा मानसिंह ने

Question : 2 ओक्टॉस मापन का प्रयोग किसके लिए किया जाता है
Answer – मेघाच्छादन की मात्रा

Question : 3 कौन-सा मेघ अत्यधिक वर्षा के लिए प्रसिद्ध है
Answer – वर्षा स्तरी

Question : 4 किस मेघ को ‘मोती की माता’ कहा जाता है
Answer – पक्षाभ मेघ

Question : 5 नेफोमीटर द्वारा किसे मापा जाता है
Answer – बादलों की दिशा वगति

Question : 6 कौन-सा मेघ वायुमंडल में सबसे अधिक ऊँचाई पर स्थित होता है
Answer – पक्षाभ मेघ

Question : 7 किस मेघ का शीर्ष ‘गोभी के फूल’ की तरह दिखाई देता है
Answer – कपासी मेघ

Question : 8 रेगिस्तानों में बादल क्यों नहीं बरसते हैं
Answer – कम आर्द्रता के कारण

Question :9 भूमध्य प्रदेश में किस प्रकार की वर्षा होती है
Answer – संवहनीय वर्षा

Question : 10 कौन-सी वर्षा बिजली की चमक और बादलों की गरज के साथ होती है
Answer – संवहनीय वर्षा

Question : 11 कृत्रिम वर्षा करने के लिए किसका प्रयोग किया जाता है
Answer – सिल्वर आयोडाइड

Question : 12 रेशेदार दिखाई देने वाले मेघ को क्या कहते हैं
Answer – पक्षाभ

Question : 13 कपासी मेघ कहाँ पाए जाते हैं
Answer – विषुवतीय प्रदेशों में

Question : 14 कौन-सा मेघ सूर्य एवं चंद्रमा में चारों ओर प्रभामंडल का निर्माण करते हैं
Answer – पक्षाभ स्तरी मेघ

Question : 15 विश्व में अधिकांश वर्षा किस प्रकार की वर्षा होती है
Answer – पर्वतीय वर्षा

Question : 16 किस क्षेत्र में जाड़े की ऋतु में वर्षा होती है
Answer – भूमध्य सागरीय क्षेत्र में

Question : 17 विश्व में वर्षा का औसत कितना है
Answer – 100 सेमी.

Question : 18 विश्व का सबसे शुष्क स्थल कौन-सा है
Answer – अटाकामा

Question : 19 सबसे प्राचीनतम राजवंश कौन-सा है
Answer – मौर्य वंश

Question : 20 किस शिलालेख में अशोक ने घोषणा की, ”सभी मनुष्य मेरे बच्चे है”
Answer – प्रथम पृथक शिलालेख में

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *