Shukr Gochar Astrology शुक्र का मेष से मीन तक हर राशि में प्रभाव जानिए, इन राशियों में देते हैं धन समृद्धि


शुक्र ग्रह को काफी शुभ ग्रह माना जाता है। कहते हैं जिसकी कुंडली में शुक्र लग्न भाव में हो वह व्यक्ति बहुत रुपवान होते हैं। साथ ही ऐसे लोगों की बातचीत भी बहुत कोमल होती है। शुक्र का कुंडली में मजबूत स्थिति में होना जातक को अच्छे परिणाम देता है। शुक्र व्यक्ति के जीवन में धन, समृद्धि, सुख. आनंद सौंदर्य और प्रेम संबंध आदि का प्रतिनिधित्व करता है। आइए जानते हैं किस राशि में शुक्र कैसा प्रभाव देते हैं।

मेष राशि पर शुक्र का प्रभाव

मेष राशि का स्वामी मंगल होता है। मंगल और शुक्र का सम भाव होता है। मंगल को ब्रह्मचारी ग्रह बताया गया है जबकि शुक्र शुभ और विलासी ग्रह है। इसलिए जब भी शुक्र मेष राशि में जाते हैं जातक को दुराचारी बना देते हैं। साथ ही लोगों को झगड़ालू स्वभाव का बना देते हैं।

वृष राशि पर शुक्र का प्रभाव

शुक्र वृष राशि के स्वामी होता है। जो इस राशि के जातकों को सुंदर बनाता है। शुक्र इस राशिवालों को परोपकारी और सदाचारी बनाता है। लोग शुभ कार्यों के लिए खर्च करते है। साथ ही जातकों को घूमने फिरने का शौक़ीन बनाता है।

मिथुन राशि पर शुक्र का प्रभाव

मिथुन राशि के स्वामी बुध है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, बुध और शुक्र मित्र है. मिथुन राशि में शुक्र के स्थित होने से जातक की कला में रुचि रहती है। साथ ही व्यक्ति की वाणी भी मधुर होती है। इसके साथ ही शुक्र जातक को दूसरों की मदद करने के लिए प्रेरित करता है।

​कर्क राशि पर शुक्र का प्रभाव

कर्क राशि का स्वामी चंद्रमा होता है। शुक्र चंद्रमा से बैर रखता है जबकि चंद्रमा हमेशा ही शुक्र से सम भाव रखते हैं। ऐसी स्थिति में जातक थोड़ा डरपोक स्वभाव के बन जाते हैं और दूसरों की वस्तुओं पर भी नजर जमा कर रखते हैं। हालांकि, शुक्र के होने जातक सुंदर होते हैं।

​सिंह राशि पर शुक्र का प्रभाव

सिंह राशि के स्वामी ग्रह सूर्य होता है। सूर्य और शुक्र एक दूसरे के शत्रु होते हैं। इसलिए इस राशि में शुक्र का होना व्यक्ति को चिंता देता है। हालांकि, जातक की रुचि शिल्पकला में रहती है। साथ ही शुक्र व्यक्ति से दिखावे के चक्कर में ज्यादा पैसा खर्च करवाता है।

​कन्या राशि पर शुक्र का प्रभाव

कन्या राशि में शुक्र नीच का होता है और इस राशि का स्वामी बुध है। बता दें कि शुक्र इस राशि के नीच फल प्रदान करता है। शुक्र के कारण इस राशि के जातक काफी बीमार रहते हैं। साथ ही व्यक्ति को धन हानि भी होती है। साथ ही ऐसे लोगों की लव लाइफ कम ही सफल होती है।

तुला राशि पर शुक्र का प्रभाव

तुला राशि का स्वामी शुक्र है। इसलिए इस राशि के जातकों को शुक्र के शुभ प्रभाव प्राप्त होते हैं। शुक्र के तुला राशि में होने से व्यक्ति रुपवान, सुंदर और लंबे कद का होता है। शुक्र व्यक्ति को बुद्धिमान बनाता है और उन्हें सुखी रखता है।

वृश्चिक राशि पर शुक्र का प्रभाव

इस राशि के स्वामी मंगल होता है। इसलिए शुक्र के वृश्चिक राशि में जानें से जातक थोडे क्रोधी होते हैं। साथ ही शुक्र जातक को थोड़ा दुखी भी कर देता है। इतना ही नहीं शुक्र के होने से वृश्चिक राशि के लोग दूसरों पर हुकुम चलाते हैं। बहस करते समय ये लोग अति भावुक भी हो जाते हैं।

धनु राशि पर शुक्र का प्रभाव

इस राशि के स्वामी गुरु हैं। शुक्र और गुरु दोनों ही शुभ ग्रह हैं। इसलिए शुक्र के धनु राशि में आने से जातक सुंदर होता है। साथ ही परिश्रम के बाद उन्हें धन प्राप्त होता है। शुक्र के प्रभाव से जातक विद्वान और सुखी बनता है। धनु राशि में शुक्र के होने से जातक उच्च स्थान प्राप्त करता है।

​मकर राशि पर शुक्र का प्रभाव

मकर राशि के स्वामी शनि होता है। वैसा तो शनि और शुक्र मित्र है लेकिन शुक्र शुभ ग्रह है और शनि क्रूर ग्रह है। इसलिए शुक्र के मकर राशि में रहने से व्यक्ति थोड़ा दुखी और कम बल वाला होता है।

कुंभ राशि पर शुक्र का प्रभाव

कुंभ राशि के स्वामी भी शनि है। शनि और शुक्र की मित्रता तो है लेकिन, कुंभ राशि में शुक्र के स्थित होने से जातक चिंता में रहता है और काफी बीमार भी रहता है। ऐसे लोग धर्म के विरुद्ध काम करते हैं। साथ ही शुक्र इस राशि के जातकों का आलसी बनाता है। जातक कार्य को आरंभ करके उसे बीच में ही छोड़ देने वाले होते हैं।

मीन राशि पर शुक्र का प्रभाव

मीन राशि के स्वामी गुरु है। वहीं, मीन राशि में शुक्र भी उच्च का होता है। इसलिए शुक्र इस राशि के व्यक्ति को शुभ प्रभाव देता है। शुक्र के होने से जातक स्वस्थ रहता है। साथ ही ऐसे लोगों को सोना, चांदी, आभूषण के व्यापार में सफलता हासिल होती है। शुक्र के प्रभाव से जातक के पास काफी धन होता है और वह सुखी रहता है। इतना ही नहीं जातक कई संपत्तियों का मालिक होता है।



Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.