मन के संशय को मिटाने की कोई सूरत खोज ही रहे थे कि आकाश ने खिड़की की ओर इशारा करते हुए धीरे-से पुकारा, “धरा, इधर...